ओम बन्ना मंदिर की कहानी | बुलेट बाबा | Om Banna जोधपुर पाली राजस्थान

हमारे  देश में जिन्दा इंसानो से लेकर पशु, पक्षी, पत्थर, पहाड़, यहाँ तक की पेड़ो की भी पूजा की  जाती है| पर इस आर्टिकल पे हम एक ऐसे मंदिर के बारे में बात करेंगे जहा एक Bike की पूजा कि जाती है. इसे लोग ॐ बन्ना के तीर्थ स्थान के नाम से जानते है, चलिए देखते है क्या है इस om banna की कहानी.

ॐ बन्ना Bullet baba temple

लोग कहते है ये मोटरसाइकिल चमत्कारी है, और इसको कही भी ले जाओ ये अपने अप वापस आ जाती है. आप को भी हैरत हुई न ऐसी अज्गूबि वाकया सुनके. आप इसको विश्वास कहे या अंध्विश्वास, पर इस मंदिर में लोग दूर दूर से दर्शन करने आते है. और जो लोग इस रास्ते से गुजरते है वो यहाँ बिना माथा टेके नहीं जाते.| यहाँ के लोगो का मानना है की जो लोग इस मंदिर को नगर अंदाज़ करते है उनका कोई न कोई सड़क दुर्घटना का सामना करना पड़सकता है.|

om banna temple

Bike Temple की कहानी

तोह चलिए जानते  इस Om banna मंदिर के बारे में, और इसकी कहानी क्या है, ये कहानी शुरू होती है अज से ३२ साल पहले. लोग कहते है की,  २३/१२/१९८८ को इसी स्थान पर २३ वर्षीय युवक, ओम सिंह राठौर का अपने बाइक की एक्सीडेंट होने से मौत हो गयी थी.

Om Banna Ka Accident Kaise Hua

कहा जाता है ओम  सिंह राठौर अपने मोटरसाइकिल रॉयल एनफील्ड ३५० RNJ 7773 से सवार होकर बंगड़ी गाऊँ से चोटिला गाओं जारहे थे. तभी उनका मोटरसाइकिल का संतुलन बिगड़ा और एक पेड़ से टकरा गया. और उनकी उसी जगह मौत हो गयी| और मोटरसाइकिल नजदीकी खाई में गिर गयी.

अगले दिन प्राप्ताह कल वहा के निवासियों ने पुलिस स्टेशन में इत्तला की और दुर्घटना के बारे में जानकारी दी| पुलिस  घटनास्थल में पहुचकर सारी करवाई की और मोटरसाइकिल को ले जाके पुलिस स्टेशन में रख दिया |

गले दिन पुलिस द्वारा बताया गया की मोटरसाइकिल  रहस्यमयी तरीके से पुलिस स्टेशन से गायब हो गयी है| वापस पुलिस ने छानबीन की तोह मोटरसाइकिल वापस अपने घटनास्थल पे पायी गयी, पुलिस वापस मोटरसाइकिल को लाके ईंधन टैंक को खाली करके चैन से बाँध कर रख दिया पर पुलिस के इस प्रयास के बाद भी मोटरसाइकिल गायब होगयीऔर घटनास्थल में पायी गयी|

पुलिस के कई प्रयासों के बाद भी मोटरसाइकिल हर बार घटनास्थल पहुची जाता था| ये धीरे धीरे स्तानिये लोगो के बिच प्रचलित होने लगा और लोग आस पास के कसबो से यहाँ आने लगे. स्तानिये लोगो ने कहा की इस मोटरसाइकिल में ओम सिंह राठौर की आत्मा बस गयी है और इसको इस दुर्घटनास्तल से हटाना मुनासिब नहीं होगा, उसके बाद वहा पे इस मोटरसाइकिल को रख दिया गया, लोग दूर दूर से इस चमत्कारी मोटर साइकिल को देखने आने लगे और वो एक तीर्थ स्तन में तब्दील होगया

Om Banna Bullet

om banna motorcycle

स्तानिये लोग कहते है की ओम सिंह राठौर को अभी देखा जाता है और ये एक मददगार रूह है, जो लोगो को दुर्घटना होने से बचता है | लोग भी बहुत भक्ति भावना से यहाँ माथा टेकते है और अगरबत्ती, फूल, नारियल, शराब, लाल धागा और मिठाई इत्यादि चढ़ाते है|

Om Banna Accident की जगह

bullet baba temple accident spot

Om Banna मंदिर आज एक धरम स्थल है, जो लोगो का आकर्षक का केंद्र है, ये जोधपुर से ५० km दूर है और पाली से करीबन 20km दूर रोपड़ ज़िले में पाली जोधपुर हाईवे  स्तिथ है, यहाँ से जो भी गाडी निकलती है वो एक बार यहाँ से होते हुए जाती है.

ये थी ॐ बनना मंदिर की कहानी अब ये आप पे निर्भर करता है, की आप इस्पे विस्वास करे या अंधविस्वास समज़कर छोड़ दे.

अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आये तोह अपने  दोस्तो  के साथ शेयर करे और इसको Like करे, मैं आपके साथे ऐसे ही एक दूसरे इंडियन कल्चर के अर्तिकल के साथ मिलूंगा तब तक के लिए धन्यवाद।

आप ये भी पद सकते है, नागा साधु कैसे बनते है https://indiantravelblog.in/process-of-becoming-naga-sadhu/

Pradeep Banerjee:

View Comments (0)